दोस्तो आप हमारे ब्लॉग पर शिवा से जुड़ी शायरी पढ़ सकते है यहा हम भगवान शिव शंकर से जुड़ी बाते और शायरिया शेयर करते है आपको हमारे ब्लॉग पर भगवान शिव की शायरी पढ़ने को मिल सकती है साथ ही आपको और भी कई ऑफ टॉपिक शायरी पढ़ने को मिलेगी। भगवान शिव शायरी

भगवान शिव शायरी | शिवा शायरी | शिव शंकर शायरी | शिव भक्त शायरी | भगवान शिव जी की शायरी | भोलेनाथ शायरी | हे शंकर शायरी | नीलकंठ शायरी | भगवान शिवा शायरी | शिव शायरी हिन्दी मे | शिव की शायरी | शिव शायरीभगवान शिव शायरी | शिवा शायरी | शिव शंकर शायरी | शिव भक्त


विश्व का कण कण शिव मय हो
अब हर शक्ति का अवतार उठे
जल थल और अम्बर से फिर
बम बम भोले की जय जयकार उठे !


भगवान शिव शायरी | शिवा शायरी | शिव शंकर शायरी | शिव भक्त शायरी


सुबह सुबह ले शिव का नाम शिव करेंगें तेरे काम
ॐ नमः शिवाय !


जिनके रोम रोम में शिव हैं वही विष पिया करते हैं
जमाना उन्हे क्या जलाएगा
जो श्रृंगार ही अंगार से किया करते हैं
जय भोलेनाथ शिव शम्भू !


भगवान शिव शायरी


शिव अनादि हैं अनन्त हैं विश्वविधाता हैं
सारे संसार में एक मात्र महादेव ही हैं
जो जन्म मृत्यू एवं काल के बंधनो से अलिप्त स्वयं महाकाल हैं !


मुझे अपने आप में कुछ यु बसा लो
के ना रहू जुदा तुमसे और खुद से तुम हो जाऊ !


शव हूँ मैं भी शिव बिना शव में शिव का वास
शिव मेरे आराध्य हैं मैं हूँ शिव का दास
हर हर महादेव !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here